Himachal

बर्फ में 4KM पालकी पर उठा कर मरीज को पहुंचाया हेलीपैड

बर्फ में 4KM पालकी पर उठा कर मरीज को पहुंचाया हेलीपैड: बर्फबारी के बाद लाहौल घाटी में तमाम सड़के बंद पड़ी हैं। रविवार को केलांग अस्पताल से रेफर एक महिला मरीज को स्तींगरी हेलीपैड तक पहुंचाने के लिए करीब चार किमी बर्फ के बीच पालकी पर उठा कर लाना पड़ा।

लिहाजा, हेलीकॉप्टर सेवा शुरू होने के बाद भी मरीजों के साथ आम लोगों की दुश्वारियां कम नहीं हुई हैं।लिंगर गांव की 66 वर्षीय महिला बसंती चार दिन से केलांग अस्पताल में एडमिट रही। उसे शांशा अस्पताल से यहां रेफर किया गया था, लेकिन एक सप्ताह तक उड़ान नहीं होने से महिला की तबीयत और बिगड़ गई। उपचार कर रहे चिकित्सक डॉक्टर जगदीश ने बताया कि महिला फेफड़े की रोग से पीड़ित है।

मरीज की हालत बेहद नाजुक है। केलांग अस्पताल में कोई भी विशेषज्ञ चिकित्सक तैनात नहीं है। रविवार को आपातकालीन हेलीकॉप्टर उड़ान होने पर बीमार महिला को अस्पताल के मुख्य गेट से ही पालकी पर उठाना पड़ा। केलांग स्तींगरी सड़क बंद होने साथ ही अस्पताल को जाने वाली संपर्क मार्ग भी अभी बंद है।

उसके बाद वहां से बीआरओ के वाहन से महिला मरीज को स्तींगरी हेलीपैड पहुंचाया गया। जहां से हेलीकॉप्टर के जरिये महिला को कुल्लू के लिए लिफ्ट किया गया। इस महिला मरीज के साथ कुछ गर्भवती महिलाओं को भी कुल्लू के लिए रेस्क्यू किया गया। 

उदयपुर से भी 10 मरीजों को रेस्क्यू कर कुल्लू पहुंचाया :केलांग (लाहौल-स्पीति)। उदयपुर में जिंदगी और मौत से जंग लड़ रहे 10 मरीजों को भी इसी हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू किया गया।  लोनोवि के कुछ मजदूरों के साथ यंग एसोसिएशन के सदस्य, लोअर केलांग के ग्रामीणों और शिक्षकों ने करीब तीन फीट बर्फ के बीच पैदल पालकी में उठा कर एक महिला मरीज को को यूरनाथ गांव तक पहुंचाया। स्तींगरी उड़ान समिति के प्रभारी सुरेंद्र ठाकुर ने बताया कि सभी रेफर मरीजों प्राथमिकता के आधार पर हेलीकॉटर से कुल्लू भेजा गया है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close