India

वायुसेना ने पाकिस्तान में गिराए 1000 किलो बम, जैश के ठिकाने किए तबाह

Pulwama Terror Attack के बाद भारत ने एक और Surgical Strike करके पाकिस्तान को भौचक्का कर दिया है। भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान में घुसकर उसे सबक सिखाया है। भारतीय वायुसेना के विमानों ने पाकिस्तान में घुसकर आतंकी संगठन जैश ए मुहम्मद के कई ठिकानों को नेस्तनाबूत कर दिया है। NSA अजित डोवाल ने पीएम मोदी को Surgical Strike2 के बारे में जानकारी दी है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह और रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण भी जल्द ही पीएम से मुलाकात करने जा रहे हैं। 

खबर है कि भारतीय वायुसेना के 12 मिराज 2000 एयरक्राफ्ट ने बालाकोट, चकोटी और मुजफ्फराबाद में बम गिराए। वायुसेना के इस एयरस्ट्राइक में कई आतंकी लॉन्च पैड के ध्वस्त होने की खबर है। खबर यह भी है कि यहां मौजूद जैश का कंट्रोल रूम अल्फा-3 भी नेस्तनाबूत हो गया है। अपुष्ट खबरों के अनुसार पाकिस्तान में भारतीय वायुसेना के इस एयरस्ट्राइक में 200-300 आतंकवादी मारे गए हैं।

जिस बालाकोट को वायुसेना ने निशाना बनाया है उसका इतिहास यह है कि महाराजा रंजीत सिंह ने 1831 में यहां सैयद अहमद को मात दी थी। सैयद अहमद उस समय मौजूदा दौर में तालिबान प्रमुख रहे मुल्ला उमर की तरह था।

बता दें कि साल 1999 में कारगिल युद्ध में मिराज 2000 विमानों का बड़े स्तर पर इस्तेमाल हुआ था। पिछले 20 साल में मिराज ने किसी कार्रवाई में भाग नहीं लिया और अब पाकिस्तान में घुसकर न सिर्फ सफलतापूर्वक एयरस्ट्राइक को अंजाम दिया, बल्कि सुरक्षित वापस भी लौट आए। सूत्रों के अनुसार मिराज 2000 के 12 विमानों ने आदमपुर एयरबेस से उड़ान भरी थी।

समाचार एजेंसी एएनआई ने भारतीय वायु सेना के सूत्रों के अनुसार खबर दी है कि भारत ने 26 फरवरी को सुबह साढ़े तीन बजे हमला किया। खबर है कि भारतीय वायु सेना के मिराज 2000 ने एलओसी पार गुलाम कश्मीर में आतंकियों के ठिकानों को निशाना बनाया और पूरी तरह से नेस्तनाबूत कर दिया।

वायुसेना के सूत्रों के अनुसार गुलाम कश्मीर में 1000 किलो बम गिराए। इस स्ट्राइक में 12 मिराज 2000 जेट ने हिस्सा लिया। 

दूसरी तरफ भारत की इस कार्रवाई की तस्दीक सीमा पार से भी हुई है। पाकिस्तान ने भारतीय वायुसेना पर एयर स्पेस के उल्लंघन का आरोप लगाया है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close